मानसून अपडेट : देरी से चल रहे मॉनसून की अब इस सप्ताह से अगले सप्ताह की शुरवात मै रफ्तार पकड़ने की पूरी संभावना है।

असामान्य गर्मी से तपता उत्तर भारत मॉनसून की बारिश से राहत की आशा में है, देरी से चल रहे मॉनसून की अब इस सप्ताहांत से अगले सप्ताह की शुरवात मै रफ्तार पकड़ने की पूरी संभावना है।

🔼वातावरण में बनते मौसम सिस्टम जिनके चलते मॉनसून सक्रीय होगा और उत्तर भारत में बढ़ेगा।

•10 जुलाई की रात तक उड़ीसा/आंध्र प्रदेश के करीब कम दबाव का क्षेत्र विकसित होगा।

•कल से अब तक पहाड़ी राज्यो पर बनी मॉनसून एक्सिस/ट्रफ सक्रीय होते हुए दक्षिण में आने शुरू होगी और उसका पश्चिमी सिरा मैदानी राज्यो में पूर्वी राजस्थान, दिल्ली एनसीआर, पंजाब, हरियाणा होते हुए पाकिस्तान तक बनेगा और सक्रीय रहेगा।

•नमी वाली पूर्वी हवाओं का प्रभाव आज से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, उत्तरप्रदेश में देखा जा सकता है, कल तक पूर्वी राजस्थान में भी सभी स्थानों पर बनेगा, पाकिस्तान में पश्चिमी विक्षोभ के वजह से नमी वाली दक्षिण पश्चिमी हवा होगी।

•11 से 14 जुलाई के बीच पाकिस्तान पर पश्चिमी विक्षोभ/ट्रफ सक्रीय होगी।

🔺ऊपर बताए गए मौसमी सामग्री के मेल से 10 से 15 जुलाई के बीच राज्यो में कुछ इस प्रकार से मौसम बनेगा:

🌦️10-11 जुलाई: पूर्वी/उत्तरी पंजाब, पूर्वी केंद्रीय हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, पूर्वी राजस्थान, उत्तरप्रदेश, जम्मू, हिमाचल, उत्तराखंड में बिखरे तौर पर मध्यम से तीव्र बारिश के दौर दर्ज की जा सकते है।(25-50% हिस्सों तक ही) इलाकों में मॉनसून की दस्तक शुरू होगी।

11 जुलाई को पश्चिमी राजस्थान, पश्चिमी पंजाब, पश्चिमी हरियाणा में भी एक दो जगह मध्यम बारिश की संभावना है(0 – 25% हिस्सों में)।

⛈️12/13/14 जुलाई: बारिश की तीव्रता और फैलाव में इजाफा होगा, मध्यम से भारी बारिश के दौर संपूर्ण पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, राजस्थान, पश्चिमी उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल, जम्मू कश्मीर में होंगे, मॉनसून की दस्तक उत्तर पश्चिमी भारत के बचे हुए राज्यो में हो जायेगी।

इस दौरान केवल पूर्वी उत्तरप्रदेश के हिस्सों में बारिश की तीव्रता और फैलाव में कमी रहेगी।

⛈️11 जुलाई की शाम/रात/12 जुलाई से 13 जुलाई की सुबह बीच इस दौर का पीक होगा, जब सबसे अधिक बरसात होगी।

12 जुलाई को उत्तराखंड, उत्तरी हिमाचल प्रदेश के हिस्सों में अति भारी बारिश भी संभव है।

🔼मैदानी राज्यो के लिए 11 से 14 जुलाई के लिए जिलावार पूर्वानुमान:

🔸पंजाब: पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर, होशियारपुर, तारण तरण, कपूरथला, जालंधर, आनंदपुर साहिब, रूपनगर, लुधियाना, मोगा, फरीदकोट, फिरोजपुर, मुक्तसर, भटिंडा, मनसा, संगरूर, बरनाला, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब, मोहाली, चंडीगढ़ के 50 से 75% हिस्सों में मध्यम से भारी बरसात के दौर संभव है।

🔸हरियाणा: चंडीगढ़, पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत, कैथल, जींद, रोहतक, झज्जर, फतेहाबाद, हिसार, सिरसा, भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, नूह, पलवल, गुड़गांव फरीदाबाद सहित राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के 50 से 75% हिस्सों में मध्यम से भारी बरसात के दौर संभव है।

🔸उत्तरप्रदेश: सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मोरादाबाद, बिजनौर, रामपुर, पीलीभीत, बरेली, शाहजहांपुर, खेरी, हरदोई, फर्रुखाबाद, कन्नौज, कानपुर, झांसी, ललतीपुर, इटवा, मैनपुरी, कांसीराम नगर, बुदाऊँ, एटा, फीरोजाबाद, महोबा, हमीरपुर, अलीगढ़, मेरठ, बुलंदशहर, बागपत, शामली, गाजियाबाद, नोएडा, आगरा, मथुरा के 50 से 75% हिस्सों में मध्यम से भारी बरसात के दौर संभव है।

शेष पूर्वी उत्तर प्रदेश के हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश 0 से 25% हिस्सों तक संभव है।

🔸राजस्थान: अलवर, जयपुर, भरतपुर, दौसा, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर, अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा, बूंदी, कोटा, बारां, झालावाड़, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, उदयपुर, राजसमंद, पाली, सिरोही के 50 से 75% हिस्सों में मध्यम से भारी बरसात संभव है।

श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझनु, सीकर, नागौर, जोधपुर, बीकानेर, जैसलमेर, बाड़मेर, जालोर के 25 से 50% हिस्सों में हल्की से मध्यम और कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

🔼तापमान अपडेट: पूर्वी हवाओं के आने से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर और उत्तरप्रदेश के हिस्सों में आज 9 जुलाई से ही तापमान में गिरावट आनी शुरू हुई है, अधिकतम तापमान आज और कल तक 40° से कम आ जायेगे, 11 से 14 जुलाई के बीच संपूर्ण उत्तर पश्चिमी भारत मै अधिकतम तापमान में अच्छी कमी आएगी, सभी जगह 35°c से कम और उत्तरी इलाकों में 30°c से भी कम 12 और 13 जुलाई को दर्ज किए जा सकते है, गर्मी से बड़ी राहत मिलेगी।

•बादलों के निर्माण के साथ तात्कालिक पूर्वानुमान श्रृंखला द्वारा और रोज नया स्टेटस का विश्लेषण करके जानकारी लगातार देते रहेंगे।