इशबगुल मोठ मेथी में तेजी ,देखिए आज के ताजा मंडी भाव राजस्थान

🌿नोखा मंडी लूज भाव🌿*

*जनरल मर्चेंट एंड कमीशन एजेंट नोखा (बीकानेर)*

*17/04/2021*

*🌿मोठ बोल्ड🌿*
*5800-7050 Extra bold

*🌿मूंग🌿*
6000-6900

*🌿ग्वार🌿*
3800/3900 ( शुक्रवार को वायदा बाजार में ग्वार मन्दी के साथ बन्द हुआ था इसलिए विशेष तेजी मन्दी नही रही )

*🌿चना नया🌿*
5100/5611

*🌿 मेथी पुरानी 🌿*
4800/5600

*🌿मेथी नई 🌿*

5500/6200++

मेथा 5800 से 6400+

*🌿नया जीरा 🌿*
11000/12400

*🌿इसबगुल नया🌿* 8800/9900

(ज्यादातर माल 8900 से 9400)तक बिक रहा है ।

*🌿काला तिल🌿* 7700/7800

*🌿कणक🌿*
1700/1950

*🌿रायडा सरसो नया 🌿*
5000/6100

*🌿मतीरा बीज🌿* 3700/3850

*🌿काकड़िया बीज🌿* 7000/7100

*🌿जौ🌿*
1400-1600

🔈तारामीरा 5100 से 5350🔈

खबर मौसम की 📢📢📢📢🔊🔉

: पश्चिमी विक्षोभ के चलते देश के इन हिस्‍सों में बर्फबारी और भारी बारिश का अलर्ट*

मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे में पश्चिम हिमालयी क्षेत्र में गरज के साथ तेज बारिश की संभावना है। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश के दौरान तेज हवाएं चल सकती है। उत्‍तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में भी गरज के साथ हल्‍की वारिश और हवाएं चलने का अनुमान है। हरियाणा के कई जिलों में हल्‍की तीव्रता वाली बारिश हो सकती है। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में आज को भी मौसम में बदलाव बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार आज भी आसमान में बादल छाए रहने की उम्‍मीद है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्‍ली में सुबह न्‍यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हिमालय क्षेत्र में भारी बारिश या बर्फबारी की बहुत संभावना

मौसम विभाग के अनुसार तापा पश्चिमी विक्षोभ के कारण 20 से 22 अप्रैल के बीच पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में भारी बारिश या बर्फबारी की बहुत संभावना जताई गई है। इसके साथ उत्‍तर भारत के कई इलाकों में खासकर मैदानी इलाकों में गरज के साथ बारिश के आसार बने हुए हैं। इन क्षेत्रों में तेज बारिश के साथ तीव्र हवा चलने का भी अंदेशा है। पूर्वोत्तर भारत में आंधी तूफान, तेज हवाओं, ओलावृष्टि के साथ भारी बारिश के आसार हैं। अरुणाचल प्रदेश में अगले 3 दिनों में बारिश का अनुमान है। असम और मेघालय में अगले 2 दिनों भारी बारिश की संभावना है।
दिल्‍ली में छाए रहेंगे बादल, हरियाणा के कई हिस्‍सों में बारिश

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्‍ली में सुबह न्‍यूतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिल्‍ली का अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्‍ली में आज भी आसमान में बादल छाए रहेंगे। दिल्‍ली-एनसीआर के इलाकों में हल्‍की बारिश भी हो सकती है। हरियाणा के आस-पास के क्षेत्रों में भी हल्‍की तीव्रता वाली बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार हिसार, बरवाला, नरवाना, जींद, भिवानी, कैथल, रोहतक में बारिश की संभावना है।

कैसा रहेगा चार महानगरों का तापमान

मौसम विभाग के अनुसार भारत के चार महानगरों का तापमान इस प्रकार है। मुंबई में न्‍यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। कोलकाता में न्‍यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 35 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है। इसी तरह से चेन्‍नई में न्‍यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। दिल्‍ली में न्‍यूनतम तापमान 18 डिग्री और अधिकतम 40 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

ओर खबर सरसो की तेजी मन्दी पर एक आम व्यापारी की राय 📢📢📢📢📢📢📢📢📢📢📢👇👇👇

सरसों की तेजी की खाशियत यह रही सरसो की कोई शोर्टेज नही है बल्कि शोर्टेज उत्पन्न एक कङी के तहत ही तेजी बन गयी आज भी देखे चना और सरसो वायदे से ऊपर निकलती जा रही है विषय काफी गंम्भीर है चर्चा करते है सरसो की। सरसो बाजार मे आने के बाद लगातार तेजी आती जा रही पहले पूर्वी राजस्थान मध्यप्रदेश उत्तरप्रदेश बंगाल और अन्य राज्यो मे सरसो का आगाज हुआ उस समय सरसो की शोर्टेज थी पाइप लाईन खाली थी जैसै जैसै सरसो आई बाजार घटता गया और उस साईड की मिलो के पास सरसो का स्टाक बम्पर होता गया लेकिन जैसे जैसे हरियाणा पंजाब राज्य गंगानगर हनुमानगढ जिले मे सरसो आती गयी वैसे वैसै बाजार बढता गया बाजार मे जैसै ही सरसो आई मिलर बङी कम्पनियां और हैजरो ने जमकर स्टाक किया हालात ये हो गये कि मिलो के पास अभी भी सरसो खाली करने की जगह नही है हैजर ने भी अपने मुताबिक माल लिया हालात ये हो गये 100 से 95% व्यापारी स्टोक करने से वंचित रह गये मिलो मे स्टोक 3 से 4 महिनो तक फुल गये मिलरो ने तेल बेचा नही 1-2 गाङी आराम से बेचते रहे नतिजा यह हुआ हाजिर मे तेलो की सप्लाई कम हुई जो भी तेल बिका रिफायनरी मे चला गया उस समय सोया और सरसो तेल का डिंफरेंस ज्यादा था जिसके कारण तेलो मे अचानक से डिमांड बढी लेकिन मिलरो ने तेल आराम से बेचा रही सही कसर किसानो ने पुरी कर दी भाव मे अप्रत्याशित तेजी के कारण किसानो ने भी माल रोक दिया हमारे सर्वे के मुताबिक अभी तक बाजार मे 50% भी सरसो बाजार मे नही आई कुछ अपवाद को छोडकर 2 महिनो मे क्रेसिंग की बात करे तो क्रेसिंग 15 लाख टन से लेकर 20 लाख तक हो चुकी है लेकिन सरसो 40 लाख टन के आसपास आ चुकी है मतलब साफ है आधे से ज्यादा सरसों स्टोक मे चला गयी हालांकि मेरा तेरा मंदी से कोई मतलब नही है लेकिन समय समय पर तेजी मंदी पर अवगत जरूर करवाता हू कल मोपा के सन्दर्भ लिखा हालाकि उनका जबाब आया मेरे कहने का मतलब यही है 6% की तेजी मंदी व्यापारीक हित के लिए सही नही अभी मंदी के लिए दुखदायी है तो आगे तेजी वालो के लिए भी घातक हो सकती है संस्थाओ को चाहिए की सभी को साथ लेकर चले अगर आप साथ लेकर नही चलोगे तो जिस तरह संकट व्यापारी पर आता है वैसा ही संकट सस्थाओ पर भी आ सकता है सरसो की तेजी कितनी सही है कितनी गलत है इसके सन्दर्भ मे मै सब कुछ लिख चुका हू एकतरफा तेजी हमेशा व्यापार के लिए घातक रही है तेजी चाहे कैसी भी हो ।